14 April 2014

लोक सभा इलेक्शन और मुस्लिम वोट

उम्मुल बनइन आप पे नाचीज़ का सलाम

एय फ़ातेमा कलाबिया एय दुख्तरे हुज़ाम 
एय मादरे खुदाए वफ़ा ज़ौजए इमाम 
है तेरी ज़ात लायक़े सद इज़्ज़ोँ एहतेराम 
उम्मुल बनइन आप पे नाचीज़ का सलाम 
वारे हैं तुम ने चार पिसर जो हुसैन पर 
एहसान है वह दीने शहे मशरिक़ैन पर 
इरफ़ान इलाहाबादी 

27 March 2014

मालोनी मलाड कि महफिले मुहिब्बाने हुसैन में 
आज रात 9 . ०० बजे 
अय्यामे फ़ातमी के अशरे की 
दूसरी मजलिस होगी 
जिस में खिताबत मौलाना वज़ीर अस्करी साहब करेंगे
contact: 9821095138 

28 November 2013

कल ज़ोहर कि नमाज़ पढ़ते हुए मोलवी ज़ैनुल अब्बास इब्ने अली अब्बास जो लाला भाई से भी जाने जाते थे का इंतेक़ाल हो गया था। 
आज वादिस सलाम क़ब्रस्तान में २ बजे तदफ़ीन है। 
नमाज़े वहशत कि दरखास्त है। 

26 November 2013

मुख़्तार भाई का ऑपरेशन कामयाब रहा

भोपाल में रिहाइश पज़ीर, अग्योना के आदिल अख़तर उर्फ़ मुख़्तार भाई का दिल का ऑपरेशन अल्हम्दुलिल्लाह कामयाब रहा. 
मुम्बई के लीलावती अस[अस्पताल से ख़ारिज होकर कल वोह मीरा रोड जाएंगे  इंशाअल्लाह।
मौसूफ़ ने आधा दर्जन से ज़यादा इस्लामियत पर किताबें लिखीं हैं. 
अल्लाह सुब्हानहु व तआला उन्हें जल्द अज़ जल्द तंदुरुस्ती दे ताकि वोह इमाम हुसैन (अ.स.) कि अज़ादारी में अपना वक़्त दे सकें।     

अल्लाहुम्मा ईश्फ़े कुल्ला मरीज़

मुम्बई में चार मरीज़ अस्पताल में दाखिल हैं जिन में 3 का ऑपरेशन होना है. 

१. वसीम (मलाड/वसई ) के 8 साला फ़र्ज़न्द जो मुहर्रम में मंझनपुर में छत से गिर गए थे, KEM हस्पताल में दाखिल हैं. उनकी रीढ़ कि हड्डी का मसला है. 

२. मरहूम याक़ूब हसन रिज़वी के छोटे फ़र्ज़न्द जनाब एहतेशाम हसन रिज़वी, जिंका ऑपरेशन हो चुका है और वोह हिंदुजा हस्पताल में हैं ,

३. मासूम आपा जो मरहूम मेहमूद सरोश साहब कि दुख्तर हैं और जनाब शमीम अब्बास कि शरीके हयात हैं उन्हें हार्ट प्रॉब्लम है वोह भी हिंदुजा हस्पताल में ज़ेरे इलाज हैं  

४. अग्योना के आदिल अख्तर (मुख़्तार) साहब जो भोपाल में रहते हैं वोह मुम्बई के लीलावती अस्पताल में दाख़िल हैं और उनकी ओपन हार्ट सर्जरी होने वाली है 

आप लोगों से गुज़ारिश है कि इन मरीज़ों के जल्द शिफ़ायाब होने कि दुआ करें।

24 November 2013

सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला

 

हसन अशरफ कि मजलिसे तरहीम

मरहूम  हसन अशरफ कि रेहलत के 6 माह मोकम्मल होने पर उनके ईसाले सवाब के लिए आज नमाज़े ज़ोहरैन के बाद मुम्बई कि बांद्रा शिया जामा मस्जिद में मजलिसे अज़ा रख्खी गई जिसमें हुज्जतुल इस्लाम मौलाना सय्यद हसनैन करारवी ने खिताबत कि. 
मजलिस में मरहूम के तमाम ख़ानदान के अफ़राद और दोस्त अहबाब शरीक थे.
आप से मरहूम के लिए एक सूरह  फातेहा कि दरख़ास्त है.